Adsense

Adsense1

shayari on dil ki baat


Kese Me Purpose Karu

shayari on dil ki baat
Kese Me Purpose Karu

shayari on dil ki baat - कैसे में प्रपोज़ करू में -1

कैसे में प्रपोज़ करू में 

कैसे में प्रपोज़ करू 
सांग सुनाऊ, डांस दिखाऊ 
फूलो से उसका आँगन महकाऊ
इधर को औ उधर को जाऊ 
दिन भर ये दिमाग लगाऊ
कैसे में प्रपोज़ करू में 
कैसे में प्रपोज़ करू 

Kese Me Purpose Karu Me
Kese Me Prupose Karu
Song Sunau, Dance Dikhau
Phulo Se Uska Aagan Mahkau
Idar Ko Aau Udar Ko Jau
Din Bhar Ye Dimag Lagau
Kese Me Purpose Karu Me
Kese Me Purpose Karu


shayari on dil ki baat कैसे में प्रपोज़ करू में -2

सोचा पहले गुलाब में लाऊ, 
फिर दिल की बात बताऊ, 
रख उसके कदमो में सारा जहाँन,
प्यार से उसे I Love You कह जाऊ, 
ऐसे में प्रपोज़ करू में, 
क्या ऐसे में प्रपोज़ करू, 
फिर सोच में पड़ गया जी, 
कैसे में प्रपोज़ करू में, 
कैसे में प्रपोज़ करू, 

Socha Pahle Rose Me Lau
Fir Dil Ki Bat Batau
Rakh Uske Kadmo Me Sara Jahan
Pyar Se Use I Love You Kah Jau
Aese Me Prupose Karu Me
Kya Aese Me Purpose Karu
Fir Soch Me Pad Gya Ji
Kese Me Purpose Karu Me
Kese Me Purpose Karu

shayari on dil ki baat कैसे में प्रपोज़ करू में -3

देख उसकी मुस्कान को, 
दिल को में कन्ट्रोल करू, 
गिफ्ट में उसके लिए लाऊ, 
कुछ Poem में लिखता जाऊ, 
बाद में उसे गिफ्ट के साथ Poem भी सुनाऊ, 
कुछ ऐसे में प्रपोज़ करू, 
क्या ऐसे में प्रपोज़ करू, 
क्या ऐसे में प्रपोज़ करू, 
अभी तक सोच में डूबा हु, 
कैसे में प्रपोज़ करू में, 
कैसे में प्रपोज़ करू, 
Dekh Uski Smile Ko
Dil Ko Me Control Karu
Gift Me Uske Liye Lau
Kuch Poem Me Likhta Jau
Bad Me Use Gift Ke Sath Poem Bhi Sunau
Kuch Aese Me Purpose Karu
Kya Aese Me Purpose Karu
Kya Aese Me Purpose Karu
Abhi Tak Soch Me Duba Hu
Kese Me Purpose Karu Me
Kese Me Purpose Karu

shayari on dil ki baat कैसे में प्रपोज़ करू में -4

सोचू पहले सामान में लाऊ, 
उसके लिए गर को सजाऊ, 
गुब्बारों और फूलो से, 
पुरे घर को जन्नत में बनाऊ, 
पड़े कदम उसके घर में, 
फूलो से उसका सुआगत में कराऊ, 
ऐसे में प्रपोज़ करू जी, 
शायद ऐसे में प्रपोज़,
दोस्तों अभी तक Clear नहीं हुआ, 
कैसे में प्रपोज़ करू में, 
कैसे में प्रपोज़ करू,  
Sochu Pahle Saman Me Lau
Uske Liye Gar Ko Sajau
Ballon Aur Phulo Se
Pure Gar Ko Jannat Me Banau
Pade Kadam Uske Gar Me
Phulo Se Uska Suagat Me Karau
Aese Me Purpose Karu Ji
Shayad Aese Mepurpose
Dosto, Abhi Tak Clear Nhi Hua
Kese Me Purpose Karu Me
Kese Me Purpose Karu

shayari on dil ki baat shayari on dil ki baat Reviewed by Sonu RTS on June 09, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.